Hindi Mic

Breaking News in Hindi, हिन्दी माईक हिन्दी में खबरें

बगावत के बाद सामने आए पशुपति पारस, लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवन को लेकर दिया बड़ा बयान

1 min read
पशुपति

पटनाः बिहार की सियासत में बीती रात बड़ा खेल हो गया. लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा)  के 6 में से 5 सांसदों ने अपना नेता पार्टी प्रमुख चिराग पासवान के चाचा और हाजीपुर से लोकसभा सांसद पशुपति पारस को चुन लिया. जिसके बाद बिहार की राजनीति सियासत तेज हो गई. हांलाकि इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई थी. लेकिन इस मामलें पर आज की सुबह पशुपति पारस ने अपना बयान देतें हुए इन खबरों पर मुहर लगा दी है.

पशुपति नाथ पारस ने

सांसद पशुपति पारस ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, “ मैं अकेला महसूस कर रहा हूं. पार्टी की बागडोर जिनके हांथ में गई. पार्टी के 99% कार्यकर्ता, सांसद, विधायक और समर्थक सभी की इच्छा थी कि हम 2014 में एनडीए से गठबंधन करें और इस बार के विधानसभा चुनाव में भी हिस्सा बने रहें. लेकिन ऐसा नहीं हुआ.”

इसके आगे सासंद पशुपति पारस ने कहा कि, “लोक जनशक्ति पार्टी बिखर रही थी कुछ असामाजिक तत्वों ने हमारी पार्टी में सेंध डाला और 99% कार्यकर्ताओं के भावना की अनदेखी करके गठबंधन को तोड़ दिया. हमारी पार्टी में 6 सांसद हैं. हमारी पार्टी को बचाने के लिए 5 सांसदों की इच्छा थी. इसलिए, मैंने पार्टी को नहीं तोड़ा है, मैंने इसे सहेजा है. चिराग पासवान मेरे भतीजे होने के साथ-साथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं. मुझे उनके खिलाफ कोई आपत्ति नहीं है. वे पार्टी में रहें.”

इसके अलावा जदयू में शामिल होने को लेकर सवाल पूछे जाने पर पशुपति पारस ने कहा, “यह 100% गलत है. लोजपा हमारी पार्टी है, बिहार में संगठन मजबूत है. मैं एनडीए के साथ था और गठबंधन का हिस्सा बना रहूंगा. 5 सांसदों ने अध्यक्ष को पत्र सौंपा है, जब भी वे आदेश देंगे हम उनसे मिलने जाएंगे.”

गौरतलब इससे लोजपा के अध्यक्ष चिराग पासवान को तगड़ा झटका लगने के साथ पार्टी को लेकर कई समस्याएं खड़ी हो गई है. पार्टी से 5 सांसदों ने पशुपति को अपना नेता चुन लिया है.  जिनमें चचेरे भाई प्रिंस समेत चंदन सिंह, वीणा देवी, और महबूब अली केशर शामिल है.

लोकसभा को सौंपा पत्र

खबरों के अनुसार सांसदो ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला को लिखे पत्र में सासंद पशुपति नाथ पारस को अब अपना नेता बताया है साथ ही खुद को लोजपा से अलग मान्यता देने की मांग की है, सांसद में अलग से बैठने देने की भी अपील की है.  कहा यह भी जा रहा है कि सांसद पशुपति नाथ पारस को केंद्र सरकार के मोदी कैबिनेट में भी जगह दी जा सकती है. बता दें बीते कई दिनों से मोदी कैबिनेट में विस्तार को लेकर चर्चा चल रही है. जिसमें चिराग पासवान को  पिता रामविलास पासवान के बाद जगह मिलने की चर्चा थी.  पार्टी के वर्तमान परिस्थिति से पार्टी प्रमुख चिराग पासवान के इन उम्मीदों पर पानी फिरता नजर आ रहा है.

 

चिराग

ये भी पढ़े

चिराग से बगावत के बाद मोदी मंत्रिमंडल में लोजपा सांसद पशुपति पारस को मिल सकती है जगह

भारत से लेकर इजरायल तक रातो-रात हो गया तख्ता पलट, पढ़िए विस्तार से

 

 

6 thoughts on “बगावत के बाद सामने आए पशुपति पारस, लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवन को लेकर दिया बड़ा बयान

Leave a Reply