Hindi Mic

Breaking News in Hindi, हिन्दी माईक हिन्दी में खबरें

बिहार की पूर्व CM के खिलाफ CBI की बड़ी कार्रवाई, राबड़ी देवी के 17 ठिकानों पर छापेमारी

1 min read

Rabri Devi. (File Photo: IANS)

पटना: राजद अध्यक्ष के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव समेत उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बड़ी बेटी मीसा भारती और अन्य परिवार से जुड़े 17 ठिकानों पर सीबीआई ने शुक्रवार की सुबह छापेमारी की है। आपको बता दें की ये जांच पड़ताल लालू यादव के बतौर रेल मंत्री के कार्यकाल में नौकरी के बदले जमीन मुद्दे से जुड़ा है। इससे पहले भी सीबीआई ने छापेमारी की है और जांच चल रही है।

हमारे सूत्रों से ये भी पता चला है कि रेलवे भर्ती बोर्ड घोटाले के कुछ नए सबूत मिले हैं जिसे सीबीआई ने नए केस के तौर पे दर्ज कर लिया है।
सुबह 6:30 बजे ही पटना के राबड़ी आवास पे जब घंटी बजी तो दरवाजा खोलते ही सीबीआई की पूरी टीम खड़ी थी। इतनी सुबह पहुंचने से टीम को अंदर जाने में काफी मुश्किल हुई लेकिन बाद में और भी सीबीआई के अफसर आ गए। करीब पौने नौ बजे एक महिला अफ़सर भी पहुंची। बताया जा रहा था की महिला अफ़सर का काम राबड़ी आवास में रह रही महिलाओं से पूछ करना है।

सीबीआई ने की खटाल की जांच

जैसा कि जानकारी मिली थी की मामला लालू यादव के नौकरी के बदले जमीन लेने से थी इसी सिलसिले में खटाल की जमीन की जांच पड़ताल में लग गई है सीबीआई भी। आपको बता दें की ये छापेमारी जब हुई तो लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव भारत में नहीं है। वो इस वक्त लंदन में हैं। लालू यादव भी अपनी बेटी मीसा भारती के दिल्ली निवास स्थान पे हैं। मीसा भारती फिलहाल राज्यसभा की सदस्य हैं। सीबीआइ की ये छापेमारी पटना के अलावा गोपीगंज, दिल्ली और भोपाल में भी साथ साथ चल रही है। मतलब साफ है की इस बार लालू यादव के बचने के सभी संभावनाओं पे लगने वाला है ताला।

सूर्योदय होते है सीबीआई की दस्तक

सुबह जब सीबीआई 6:30 बजे पहुंची राबड़ी आवास तो लोगों की नींद भी ठीक से नहीं खुली थी। दरवाजे से अंदर घुसते ही सीबीआई अधिकारियों ने अंदर से दरवाजा बंद कर दिया और निर्देश दिया की न ही कोई घर से बाहर जायेगा न बाहर से कोई अंदर आएगा। राबड़ी आवास के सामने तीन गाड़ियां खड़ी रहीं, जिसमे से एक गाड़ी झारखंड की थी। अफ़सर थोड़ी थोड़ी देर पे आते रहे।

समर्थकों का लगा हुजूम

रेड की जानकारी मिलते ही पार्टी के मेंबर, लालू यादव के समर्थक और विधायकों का तांता लग गया। भीड़ को बढ़ते देखकर बारकडिंग लगाई जा रही है। घर के अंदर और बाहर पुलिस भी तैनात किए गए हैं। लालू यादव के वकील भी यहां मौजूद हैं। तेज प्रताप यादव के समर्थक भी नारेबाजी करने आ गए हैं। उनका कहना है की सीबीआइ के पास जब कोई सुबूत नहीं है तो ये जांच तुरंत बंद किया जाए।
बताया जा रहा है की इस स्कैम में मीसा भारती पे भी लटक सकती है तलवार। सूत्रों की बात करें तो सीबीआई अपनी जांच लालू यादव के हर ठिकाने पे तैनात है और अपनी कार्यवाही कर रही है। फिलहाल सबूत न मिलने से राहत है लेकिन नए केस दर्ज होने से लालू प्रसाद यादव और उनकी बेटी मीसा भारती पे शिकंजा कसा जा सकता है।

 

 

Leave a Reply