Hindi Mic

Breaking News in Hindi, हिन्दी माईक हिन्दी में खबरें

पंजाब मुख्यमंत्री भगवंत मान ने स्वास्थ्य मंत्री को किया बर्खास्त, एंटी करप्शन ब्यूरो की हिरासत में विजय सिंगला

1 min read

पंजाब| पंजाब सरकार के कैबिनेट मंत्री विजय सिंगला को सीएम भगवंत मान ने बर्खास्त कर दिया है। बता दें कि, विजय सिंगला स्वास्थ्य मंत्री थे। और उन्हें रिश्वतखोरी मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है। पंजाब सरकार के अहम विभाग की जिम्मेदारी उठा रहे विजय सिंगला को अचानक ही किस्मत का तख्तापलट होते हुए देखना पड़ा। भगवंत मान ने उन्हें मंत्रीपद से हटाया ही साथ में ACB को भी निर्देश दिए जिससे एसीबी ने भी उन्हें हिरासत में ले लिया। सीएम मान ने पुलिस अधिकारियों को भी ये आदेश दिया है की विजय सिंगला के रिश्वतखोरी का मामला दर्ज किया जाए।

आपको बता दें की विजय सिंगला पे ये आरोप है की वो अधिकारियों से ठेके पर एक परसेंट कमीशन लेने और भ्रष्टाचार में लिप्त पाए गए हैं। उनके खिलाफ करप्शन करने के पुख्ता सबूत भी मिले हैं। जिसके तुरंत बाद ही भगवंत मान ने उन्हें निष्कासित करने का ऐलान किया।
अपने फैसले के तुरंत बाद ही सीएम भगवंत मान ने कहा की वो अपनी सरकार में भ्रष्टाचार एक परसेंट भी बर्दाश्त नही करेंगे। उन्होंने कहा की जनता ने बड़ी उम्मीद के साथ हमें ये जिम्मेदारी सौंपी है। अब इसपे खरा उतरना ही हमारा कर्तव्य है। उन्होंने आगे कहा की जबतक अरविंद केजरीवाल जैसे भारत माता के सपूत हैं और भगवंत मान जैसे सिपाही भ्रष्टाचार की खिलाफ़ जंग जारी रहेगी।

उन्होंने आगे कहा की अरविंद केजरीवाल ने ये प्रण लिया था की करप्शन को जड़ से उखाड़ फेकेंगे। और इस जंग में हम सब उनके सिपाही हैं। भ्रष्टाचार के इस जंग में एक भी भ्रष्टाचारी रहने नहीं देंगे। अपने बयान के बाद भगवंत मान ने बाकी कैबिनेट मंत्रियों को ये संदेश जरूर दे दिया है की भ्रष्टाचार को अब पंजाब में पनपने नहीं देंगे और अधिकारियों के लिए भी एक कड़ा निर्देश समझा जा सकता है।

पंजाब के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ की किसी मुख्यमंत्री ने अपनी ही सरकार के मंत्री को निलंबित किया हो। इसके साथ ही पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। और पार्टी ने सिस्टम में लिप्त भ्रष्टाचारियों को हटाने का फ़ैसला भी लिया है।

Leave a Reply